मुखपृष्ठ

पुरालेख-तिथि-अनुसार -पुरालेख-विषयानुसार -हिंदी-लिंक -हमारे-लेखक -लेखकों से


घर-परिवारसुंदर घर


 घर को सुंदर बनाने के
उपयोगी सुझाव
(संकलित)


२७- चिक और चटाई का पारंपरिस सौंदर्य

चिक और चटाई पुराने समय से घरों की रूपसज्जा का अंग रहे हैं और आज भी इनका फैशन और इनकी उपयोगिता से इनकार नहीं किया जा सकता। एक और लाभ इनका यह है कि ये आज भी कालीन और पर्दों की अपेक्षा सस्ते मिल जाते हैं।

चिक और चटाई के साथ अगर बेंत की कुर्सी और अलमारी हो फिर तो कहना ही क्या। कमरे की सज्जा देखते ही बनती है। चित्र मे एक ऐसे ही कमरे को दिखाआ गया है। सोफे के पास रखी बेंत की छोटी सी टोकरी जिसमें अखबार रखा जा सकता है गृहणी की सुरुचि का परिचय देती है।

१० अगस्त २०१५

(अगले अंक में दूसरा सुझाव)  पृष्ठ- ११. १२. १३. १४. १५. १६. १७. १८. १९. २०. २१. २२. २३. २४. २५. २६

1

1
मुखपृष्ठ पुरालेख तिथि अनुसार । पुरालेख विषयानुसार । अपनी प्रतिक्रिया  लिखें / पढ़े
1
1

© सर्वाधिका सुरक्षित
"अभिव्यक्ति" व्यक्तिगत अभिरुचि की अव्यवसायिक साहित्यिक पत्रिका है। इस में प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है। यह पत्रिका प्रत्येक
सोमवार को परिवर्धित होती है।