मुखपृष्ठ

पुरालेख-तिथि-अनुसार -पुरालेख-विषयानुसार -हिंदी-लिंक -हमारे-लेखक -लेखकों से


घर-परिवार जीवन शैली


२४ सुझाव जो जल्दी वजन कम करने में
सहायक हो सकते है

(संकलित)


 

३- स्वास्थ्यवर्धक भोजन का चुनाव करें-
वजन कम करने का मतलब है कैलोरी में कटौती, लेकिन शरीर को भोजन की आवश्यकता सदा बनी रहती है। हमारे शरीर को विटामिन और खनिज से भरपूर भोजन चाहिये। वजन ज्यादा का अर्थ है कि हम कार्बोहाइड्रेट और वसा ज्यादा आवश्यकता से अधिक ले रहे हैं।

सोडा, चिप्स, कुरकुरे, मिठाइयाँ, बंद कर दें। रोटी और चावल जहाँ तक हो सके बंद कर दें या कम कर दें। एनर्जी ड्रिंक, चीनी वाले पेय जैसे रसना या टैंग, चीनी वाली चाय या क्रीमी कॉफी को बंद कर दें। संरक्षित भोजन जैसे चटनी, अचार डिब्बाबंद भोजन का प्रयोग न करें। चार प्रतिशत वसा वाले दूध के स्थान पर दो प्रतिशत वसा वाला दूध पियें।

यह सब कुछ एक दम से बंद करने की बजाय धीरे धीरे कम करें जैसे भोजन में एक रोटी कम करें और दाल, फल व सब्जियों की मात्रा बढ़ाएँ। स्वादिष्ट भोजन को छोड़कर स्वास्थ्यवर्धक भोजन पर ध्यान केंद्रित करें। स्वास्थ्यवर्धक भोजन को इस प्रकार स्वादिष्ट बनाएँ कि उसके पौष्टिक तत्व बने रहें और वह शरीर पर वजन के रूप में इकट्ठा न हो। ताजी हरी चटनी और गरम मसाले वजन नहीं बढ़ाते इनका प्रयोग किया जा सकता है।

४- अपना खाना स्वयं पकाएँ-

जैसे जैसे महिलाओं की व्यस्तता बढ़ रही है वैसे वैसे घर में खाना पकाना कम हो रहा है। अक्सर दोपहर का खाना कार्यालय या कैफे में हो जाता है। शाम को थकान इतनी होती है कि अक्सर आर्डर देकर खाना मँगवाना पड़ता है। इससे स्वाद की तृप्ति हो जाती है और पेट भी भर जाता लेकिन खाने की गुणवत्ता पर गहरा असर पड़ता है। जब हम खाना स्वयं पकाते हैं तो किस तेल में बना है कितना स्वास्थ्यवर्धक है उसका ध्यान रखा जा सकता है।

ताजे फल सदा फ्रिज में रखें ताकि तुरंत खाया जा सके। खीरा, गाजर, टमाटर, सलाद, टोफू, पनीर, भीगे चने या मूँग को बनाने में बहुत ही कम समय लगता है और ये बिना पके या कम पके हुए भी स्वादिष्ट लगते हैं। जल्दी तैयार होने वाले कुछ ऐसे मनपसंद व्यंजनों की भी खोज करें जो स्वास्थ्यवर्धक हों और जिन्हें पकाने में ज्यादा समय न लगता हो।

१ फरवरी २०१९

(अगले अंक में कुछ और सुझाव)                                                         पृष्ठ- . .

1

1
मुखपृष्ठ पुरालेख तिथि अनुसार । पुरालेख विषयानुसार । अपनी प्रतिक्रिया  लिखें / पढ़े
1
1

© सर्वाधिका सुरक्षित
"अभिव्यक्ति" व्यक्तिगत अभिरुचि की अव्यवसायिक साहित्यिक पत्रिका है। इस में प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है। यह पत्रिका प्रत्येक
सोमवार को परिवर्धित होती है।