मुखपृष्ठ

पुरालेख-तिथि-अनुसार -पुरालेख-विषयानुसार -हिंदी-लिंक -हमारे-लेखक -लेखकों से


घर-परिवार बागबानी


बारह पौधे जो साल-भर फूलते हैं
(संकलित)


६- अपराजिता

अपराजिता या ब्ल्यू पी जिसे बटरफ्लाई पी के नाम से भी जाना जाता है एक सदाबहार पौधा है। यह एक बेल है जो घरों की दीवारों, छज्जों या जंगलों पर चढ़ी हुई आसानी से दिख जाती है। इस बेल की ऊँचाई ५ से १० फुट तक हो सकती है जबकि इसकी चौड़ाई दो से तीन फुट होती है। यह सफेद, गुलाबी या नीले रंग की हो सकती है। इसके फूलों में कोई महक नहीं होती। अपराजिता का पौधा गर्मी के मौसम में फूलों से भर जाता है। सर्दी के मौसम में इस बेल में काफी कम फूल खिलते हैं। अपराजिता को बीज या कलम से लगाया जा सकता है। बीज से इसे पौधा बनने में पाँच से छह महीने लगते हैं। जबकि कलम लगाने पर तीन से चार महीने में यह फूलने लगता है।

बीज को बोने से पहले रात भर पानी में भीगोना चाहिये। सुबह इसे भुरभुरी मिट्टी में एक इंच नीचे दबा देना चाहिये। दो या तीन बीज तीन इंच की दूरी पर लगाए जाने चाहिये। बीज लगाने के बाद आप इसके ऊपर पानी का छिड़काव कर दें। एक सप्ताह में वहाँ बीज से पौधा उगने की शुरूआत हो जाती है। कलम काटकर अपराजिता का पौधा लगाने के लिये किसी बेल से एक ऐसी कलम काट लें, जो न ज्यादा नर्म हो न ही ज्यादा सख्त। कलम के पत्तों को तोड़ दें। इसमें केवल ऊपर के हिस्से के दो-तीन पत्ते छोड़ दें। इसे मिट्टी में तीन इंच गहरा दबा दें। बाकी हिस्सा ऊपर रहने दें। मिट्टी में वही हिस्सा दबाएँ जिसे बेल से अलग किया गया है। थोड़े पानी का छिड़काव कर दें। पानी कभी भी सीधा न दें। इससे कलम खराब हो जाएगी। कलम या बीज दोनो ही स्थितियों में पानी का छिड़काव बस इतना करें कि मिट्टी में नमी बनी रहे। कलम गमले में लगाएँ, तो उसे छाँह में रखने की कोशिश करें, ताकि गर्मी के कारण वह खराब न हो। १२ से १५ दिन में कलम जड़ पकड़ने लगती है।

एक बार यदि अपराजिता का पौधा अच्छी तरह से उग जाता है, तो इसकी किसी विशेष देखभाल की आवश्यकता नहीं है। इसके फैलाव को रोकने के लिये समय-समय पर नियमित छँटाई करते रहें। लंबाई रोकने के लिये इसका ऊपरी हिस्सा काटा जा सकता है इससे वह चौड़ाई में बढ़ना शुरू करेगी और फूल घने होंगे। हर पौधे की तरह सूखे फूल और टहनियों को नियमित रूप से हटाना चाहिये। अपराजिता का पौधा धूप ज्यादा पसंद करता है। इसलिए इसे धूप में ही उगाएँ ताकि इसे सूरज का प्रकाश नियमित मिलता रहे। गर्मी में रोज पानी दें, जबकि सर्दी के दिनों में हप्ते में दो से तीन बार पानी देना काफी रहता है। इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए कि पानी पौधे की जड़ों में कई दिनों तक रुका न रहे। इससे पौधे की जड़े सड़ सकती हैं। ज्यादा फूलों के लिये अपराजिता के पौधे में महीने में एक बार खाद डालनी चाहिये।

पृष्ठ- . . . . . .(अगले अंक में एक और पौधे के विषय में)

१ जून २०२२

यह भी देखें-

bullet

घर के लिये उपयोगी वृक्ष और पौधे     

bullet

सरल और सफल बागबानी  

bullet

ग्रहों से वृक्ष और पौधों का संबन्ध

bullet

आयुर्वेद की दृष्टि से उपयोगी बारह पौधे

bullet

फूलों की टोकरियाँ या लटकने वाले गमले

bullet

बारह पौधे जो साल-भर फूलते हैं

1

1
मुखपृष्ठ पुरालेख तिथि अनुसार । पुरालेख विषयानुसार । अपनी प्रतिक्रिया  लिखें / पढ़े
1
1

© सर्वाधिका सुरक्षित
"अभिव्यक्ति" व्यक्तिगत अभिरुचि की अव्यवसायिक साहित्यिक पत्रिका है। इस में प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है। यह पत्रिका प्रत्येक
सोमवार को परिवर्धित होती है।