मुखपृष्ठ

पुरालेख-तिथि-अनुसार -पुरालेख-विषयानुसार -हिंदी-लिंक -हमारे-लेखक -लेखकों से


घर-परिवार बागबानी


बारह पौधे जो साल-भर फूलते हैं
(संकलित)


७- पेंटास

पेंटास (पेंटास लांसोलाटा) का पौधा लगभग दो फुट ऊँचा झाड़ीनुमा होता है। इसमें पाँच-पंखुड़ी वाले सितारे जैसे आकार के फूल आते हैं। आकार के कारण इन्हें मिस्र के सितारे या इजिप्शियन स्टार भी कहा जाता है। वसंत से लेकर दीपावली तक ये पौधा फूलों से भरा रहता है। दिसंबर जनवरी में सर्दी ज्यादा हो तो फूल कम हो जाता हैं। इस पौधे को काट-छाँटकर मनचाहे आकार में ढाला जा सकता है। इसके फूल आम तौर पर गुलाबी, बैंगनी, नारंगी, लाल या सफेद रंग के होते हैं। फूल गुच्छों मे खिलते हैं और नये फूलों के रंग कुछ हल्के होते हैं। जैसे लाल का नया पौधा गुलाबी दिखता हैँ। काफी धीमी गति से बढ़ने वाले ये पौधे आमतौर पर गमले या क्यारी में लगाए जाते हैं। पेंटास पौधे कम रखरखाव वाले पौधे हैं, बशर्ते उन्हें भरपूर पानी, धूप और गर्मी मिले। सूखे फूलों पत्तियों और टहनियों की नियमित सफाई रखें और वसंत ऋतु में ठीक से खाद दे दें। आमतौर पर उनमें कोई बीमारी नहीं लगती। अधिक फूलों के लिये हर महीने एक मुट्ठी वर्मी कम्पोस्ट इनमें डाल सकते हैं।

सर्दी में पेंटास की विशेष देखभाल करनी पड़ती है। जैसे ही तापमान १८ डिग्री फैरेनहाइट नीचे गिरा वे मरने लगेंगे। उस समय अगर वे बगीचे में धरती पर लगे हुए हैं तो उनको खोदकर गमलों में लगाकर अच्छे प्रकाश वाली किसी ऐसी जगह पर रखना चाहिये जहाँ तापमान १८ डिग्री या उससे अधिक हो। अगर ये गमले में लगे हैं तो गमले उठाकर अंदर रखने की व्यवस्था करनी पड़ेगी।

पेंटास के पौधे बीज से या कटिंग से उगते हैं। गाँठ वाली टहनी से वसंत ऋतु में कटिंग लें और कटिंग वाले सिरे तो रूटिंग हार्मोन में डुबा कर तने को बालू वाली मिट्टी में दबा दें। मिट्टी में नमी बनाए ऱखें अधिक पानी न दें। कुछ ही सप्ताह में इनमें जड़ें आने लगेंगी। इसके बाद इन्हें गमलों या क्यारियों में लगाया जा सकता है।

पृष्ठ- . . . . . . .

१ जुलाई २०२२

यह भी देखें-

bullet

घर के लिये उपयोगी वृक्ष और पौधे     

bullet

सरल और सफल बागबानी  

bullet

ग्रहों से वृक्ष और पौधों का संबन्ध

bullet

आयुर्वेद की दृष्टि से उपयोगी बारह पौधे

bullet

फूलों की टोकरियाँ या लटकने वाले गमले

bullet

बारह पौधे जो साल-भर फूलते हैं

1

1
मुखपृष्ठ पुरालेख तिथि अनुसार । पुरालेख विषयानुसार । अपनी प्रतिक्रिया  लिखें / पढ़े
1
1

© सर्वाधिका सुरक्षित
"अभिव्यक्ति" व्यक्तिगत अभिरुचि की अव्यवसायिक साहित्यिक पत्रिका है। इस में प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है। यह पत्रिका प्रत्येक
सोमवार को परिवर्धित होती है।