मुखपृष्ठ

पुरालेख-तिथि-अनुसार -पुरालेख-विषयानुसार -हिंदी-लिंक -हमारे-लेखक -लेखकों से


घर-परिवार बागबानी


 लटकने वाले गमले
कुछ उपयोगी सुझाव
(संकलित)


४- गर्मियों में गुलदोपहरी का बहुरंगी बाना

गुल दोपहरी, टेन-ओ-क्लाक या पोर्टूलका ढेर से रंगों में मिलने वाला गर्मियों का फूल है। ये दो प्रकार के होते हैं महीन पत्तियों वाले जिनका आकार बड़ा और दोहरी पंखुरियों वाला होता है और चपटी-चौड़ी पत्तियों वाले जिनके फूलों में पंखुरियाँ इकहरी होती हैं। दोनों ही एक से सुंदर और बहुरंगी होते हैं।

गुलदोपहरी मिट्टी से सटकर फैलने वाला पौधा है इसके तने में ऊँचाई लगभग ४ इंच तक ही होती है इसलिये यह लटकने वाली टोकरियों में बहुत सुंदर दिखता है। इसे ब्राजील, अर्जेन्टीना और उरुग्वे का निवासी माना जाता है लेकिन यह भारत और मध्यपूर्व में गर्मियों की धूप में अनेक रंगों में- गुलाबी, लाल, पीला, नारंगी, हल्का नीला और सफेद, खिला हुआ देखा जा सकता है। इसे अधिक देखभाल की जरूरत नहीं होती है।

हर तरह की मिट्टी में काफी धूप में यह अच्छी तरह खिलता है। मिट्टी में जल का रुकाव न हो और इसको नियमित पानी मिले। अधिक बढ़ जाने पर इसे कभी कभी काटने की जरूरत होती है। इसे काटना आसान है और इसके खिले हुए पौधे को गोल चौकोर या इच्छानुसार कोई भी आकार दिया जा सकता है।

१५ फरवरी २०१६

(अगले अंक में एक नया पौधा)                                       पृष्ठ- . . . . . . . . .

1

1
मुखपृष्ठ पुरालेख तिथि अनुसार । पुरालेख विषयानुसार । अपनी प्रतिक्रिया  लिखें / पढ़े
1
1

© सर्वाधिका सुरक्षित
"अभिव्यक्ति" व्यक्तिगत अभिरुचि की अव्यवसायिक साहित्यिक पत्रिका है। इस में प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है। यह पत्रिका प्रत्येक
सोमवार को परिवर्धित होती है।